विश्व हृदय दिवस: कुन व्यक्ति हार्ट अट्याक र कार्डियक अरेस्टको लागि सबैभन्दा जोखिममा छन्?


विश्व हृदय दिवस: कुन व्यक्ति हार्ट अट्याक र कार्डियक अरेस्टको लागि सबैभन्दा जोखिममा छन्?

यी व्यक्तिहरू हृदयघात र हृदयघातको ठूलो जोखिममा छन्। हृदय रोगको मृत्युमा धेरैजसो व्यक्तिले प्रारम्भिक चेतावनीमा ध्यान नदिएको ठूलो गल्ती गर्दछन्।

नयाँ दिल्ली यी व्यक्तिहरू हार्ट अट्याक र कार्डियक अरेस्टको प्रमुख जोखिममा छन्: दिल की बीमारी एक बेहद गंभीर रोग है लेकिन यह जानने के बावजूद कई बार लोग इसके शुरुआती लक्षणों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और इस लापरवाही का नतीजा अक्सर जानलेवा साबित होता है। दिल से जुड़ी बीमारियों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 29 सितंबर को दुनिया भर में वर्ल्ड हार्ट डे मनाया जाता है। 

दिल की बीमारी से होने वाली मौतों में ज़्यादातर लोग शुरुआती चेतावनी पर ग़ौर नहीं करने की बड़ी भूल कर बैठते हैं। ये बात दुनिया भर में हुए कई अध्ययन में पाई गई है। इस सिलसिले में शोधकर्ताओं ने पिछले चार साल के बीच अस्पतालों में दिल के दौरे की वजह से भर्ती होने वाले मरीजों और मौत के सभी मामलों की स्टडी की थी। शोध में पाया गया कि 16 फीसदी मामलों में अस्पताल में भर्ती कराए गए मरीज़ों की मौत 28 दिनों में ही हो गई थी।

जो सबैभन्दा बढी हृदयघात को जोखिममा छन्

1. मोटापे के शिकार लोग

2. दिल की बीमारियों का पारिवारिक इतिहास

3. उच्च रक्त चाप (हाई ब्लड प्रेशर)

4. मधुमेह (डायबीटीज़)

5. शारीरिक व्यायाम न करना

6. एक गतिहीन जीवन शैली 

को सबैभन्दा b] कार्डियक अरेस्ट को सचेत

1. शौकिया दवाइयां खाना

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

2. दिल की बीमारी की अन्य दवाएं 

3. दिल की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचना

4. दिल की धड़कन में असामान्यताएं  

कार्डिऐक अरेस्ट के खतरे से बचने के लिए यह जरूरी है कि आप रुटीन चेक-अप और दिल की नियमित जांच कराते रहें। कार्डिऐक अरेस्ट के मामले में, यह ज़रूरी है कि जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी एक्शन लें, तभी आपकी जान बच सकेगी। जब तक डॉक्टर आए तब तक आप तुरंत मरीज़ पर सीपीआर शुरू कर दें। 

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

वहीं, हार्ट अटैक के मामले में, फौरन एम्बुलेंस को फोन कर बुलाएं और अगर मरीज़ बेहोश हो जाए तो उसके सीपीआर शुरू कर दें।  आप मरीज़ को ऐस्प्रिन की एक गोली भी दे सकते हैं, लेकिन अगर डॉक्टर ने किसी और दवा का सुझाव दिया है तो उसे ही फॉलो करें।

अस्वीकरण: यस लेखमा व्यक्त विचारलाई चिकित्सकको सल्लाहको विकल्पको रूपमा लिनुहुन्न। थप जानकारीको लागि कृपया तपाइँको डाक्टरसँग परामर्श लिनुहोस्।

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ