विश्व एड्स दिवस: रांची र हजारीबाग सबैभन्दा एचआईभी पोजिटिभ, झारखंडमा २ 23,००० एड्स भएका


विश्व एड्स दिवस: रांची र हजारीबाग सबैभन्दा एचआईभी पोजिटिभ, झारखंडमा २ 23,००० एड्स भएका

झारखंडमा २ Thousand हजार एचआइभी बिरामी झारखंड राज्यमा २ 23 हजार भन्दा बढी व्यक्ति एच आई भी बाट पीडित छन्। हजारीबाग र राजधानी रांचीमा सबैभन्दा बढी बिरामीहरू छन्।

नई दिल्‍ली, जेएनएन। झारखंडमा २ Thousand हजार एचआइभी बिरामी: झारखंड राज्यमा २ 23 हजार भन्दा बढी व्यक्ति एच आई भी बाट पीडित छन्। हजारीबाग र राजधानी रांचीमा सबैभन्दा बढी बिरामीहरू छन्। यी बिरामीहरुलाई रिम सहित विभिन्न सरकारी अस्पतालहरु बाट औषधि दिइन्छ र उपचार चलिरहेको छ।

झारखंड राज्‍य एड्स कंट्रोल सोसाइटी यानी जेसैक की रिपोर्ट के मुताबिक 2002 से अब तक किए गए सर्वे में पता चला है कि राज्‍य में 23270 लोग एचआईवी पॉजिटिव हैं। रिपोर्ट के मुताबिक सर्वाधिक 5259 मरीज हजारीबाग जिले में पाए गए हैं। वहीं, राजधानी रांची एचआईवी पॉजिटिव मरीजों के माले में दूसरे नंबर पर है।

रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि रांची में 4916 मरीज इस गंभीर बीमारी की चपेट में हैं। तीसरे नंबर पर सिंहभूम जिला है, यहां पर 3733 मरीज पाए गए हैं। इनमें से 19291 के मरीजों का इलाज राज्‍य के एचआईवी केयर के जरिए किया जा रहा है। वहीं, बाकी मरीजों का इलाज अलग अलग सरकारी स्‍वास्‍थ्‍य इकाईयों के जरिए चल रहा है।

नाको ने 2013 में रिपोर्ट जारी कर झारखंड में करीब 23 हजार एचआईवी से ग्रसित मरीजों के होने की आशंका जताई थी। जबकि 2012 तक नाको ने राज्‍य में 11 हजार संक्रमित मरीजों की रिपोर्ट जारी की थी। जेसैक की रिपोर्ट के बाद एचआईवी पॉजिटिव मरीजों के इलाज की खातिर चार नए एआरटी सेंटर्स स्‍थापित करने का ऐलान किया गया है।

रांची के रिम्‍स अस्‍पताल के एंटी रेट्रोवायरल ट्रीटमेंट सेंटर में प्रतिमाह एचआईवी से सं‍क्रमित 1500 मरीजों को दवा उपलब्‍ध कराई जा रही है। नई रिपोर्ट में 2300 से ज्‍यादा मरीजों की संख्‍या सामने आने के बाद से सरकार और संबंधित प्रशासन ने इलाज और एहतिहात की तैयारियां शुरू कर दी हैं।  

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ