Sk० मा स्किन्केयर सल्लाह: कसरी यी Skin तरीकामा उमेरका साथ छाला हेरचाह रुटिन परिवर्तन गर्ने!


Sk० मा स्किन्केयर सल्लाह: कसरी यी Skin तरीकामा उमेरका साथ छाला हेरचाह रुटिन परिवर्तन गर्ने!

स्किनकेयर सल्लाह At० बर्षे उमेरका धेरै प्रकारका लक्षणहरू तपाईंको छालामा पनि देखा पर्दछ, जस्तै झुर्रीहरू, अनुहारमा झुण्डिएका लाइनहरू, छालाको एउटै छाला बिना छाला, ड्राईनेस आदि।

नयाँ दिल्ली, जीवनशैली डेस्क। At० बर्षमा स्किनकेयर सल्लाहहरू: ये आप सब जानते होंगे कि त्वचा हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग होती है और हमें इसका खास ख्याल रखने की ज़रूरत होती है, खासकर तब जब हमारी उम्र 30 से ऊपर हो। 30 साल की उम्र में पहुंचने पर कई तरह के बदलाव आते हैं। हमारी ज़िंदगी, शरीर, दिमाग़ और आत्मा बदलाव से गुज़रते हैं।    

आपकी त्वचा पर भी उम्र बढ़ने के कई तरह की निशान दिखने लगते हैं, जैसे, झुर्रियां, चेहरे पर लकीरें, लटकती हुई त्वचा, बड़े पोर्स, एकतरह का स्किन टोन न होना, रूखापन आदि। हालांकि, कई तरह के स्किन केयर हैं जिनकी मदद से आप समस्याओं को दूर रख सकते हैं।

अगर आप 30 साल की हो गई हैं तो एंटी-एजिंग क्रीम को अपनी स्किन केयर रुटीन में जोड़ने का यह सही वक्त है। आप जितनी जल्दी अपनी त्वचा की देखभाल शुरू कर देंगे वह उतने ही लंबे समय तक जवां दिखेगी। यहां तक कि डॉक्टर्स का भी मानना है कि 30 साल के होते ही आपको धीरे-धीरे एंटी एजिंग क्रीम्स का इस्तेमाल शुरू कर देना चाहिए।

30 साल की हो गई हैं तो इन 5 स्किनकेयर स्टेप्स को अपनी आदत बना लें:   

1. आंखों की क्रम

आपकी आंखों के आसपास की स्किन चेहरे का सबसे नाज़ुक हिस्सा होता है और यहीं आपको बढ़ती उम्र का पहला इशारा मिल जाएगा। लेकिन अगर आप रोज़ाना सुबह और शाम आई-क्रीम का इस्तेमाल करेंगे तो ऐसी दिक्कत नहीं आएगी। मार्केट में आपको कई तरह की आई क्रीम्स मिल जाएंगी, लेकिन इनको अपनी त्वचा के हिसाब से ही चुनें।

बबिता फोगाट कस्टमाइज गरिएको मेहँदी: बबिता फोगाटसँग उनको विवाहमा मेहँदी लग्यो, तपाई पनि यस्तै अनुकूलित गर्न सक्नुहुन्छ

बबिता फोगाट कस्टमाइज गरिएको मेहँदी: बबिता फोगाटसँग उनको विवाहमा मेहँदी लग्यो, तपाई पनि यस्तै अनुकूलित गर्न सक्नुहुन्छ

पनि पढ्नुहोस्

2. एंटी-एजिंग सीरम

आप मानें या न मानें लेकिन एंटी-एजिंग क्रीम्स आपकी त्वचा पर कमाल कर सकते हैं। इसमें विटामिन्स और कई तरह की चीज़ें होती हैं जो आपकी त्वचा को बूढ़ा होने से बचाती हैं। आप विटामिन-सी सीरम या फिर ह्यालुरोनिक एसिड सीरम का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसे टोनर लगाने के बाद दिन में दो बार लगाएं।

3. एल्फा हाइड्रॉक्सी एसीड युक्त एक्सफोलिएटर

चित्रहरूमा अनुष्का शर्माको ग्लैमर लुक: अनुष्का शर्माको नयाँ ग्लैम लुकले तपाईंको मन जित्न सक्नेछ!

चित्रहरूमा अनुष्का शर्माको ग्लैमर लुक: अनुष्का शर्माको नयाँ ग्लैम लुकले तपाईंको मन जित्न सक्नेछ!

पनि पढ्नुहोस्

आपको अपने स्किन केयर में एल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड जैसे ग्लाइकोलिक एसिड, सिटरिक एसिड या फिर लैकटिक एसिड युक्त एक्सफोलिएटर का इस्तेमाल ज़रूर करना चाहिए। ये आपकी त्वचा की रौनक को बढ़ाएगा। इसे हफ्ते में दो बार से ज़्यादा इस्तेमाल न करें।

4. सनब्लॉक 

सनब्लॉक स्किनकेयर का ऐसा ज़रूरी हिस्सा है जिसे अक्सर लोग भूला देते हैं। हम भूल जाते हैं कि सूरज की किरणें हमारी त्वचा की सबसे बड़ी दुश्मन हैं और यहीं उम्र से पहले झुर्रियों का कारण भी बनती हैं। जो लोग गर्म जगहों पर रहते हैं उनके लिए कम से कम 40 एसपीएफ का सनब्लॉक लगाना बेहद ज़रूरी है। जब आपकी उम्र 30 साल की हो जाती है तो आपके लिए सनब्लॉक लगाना और भी ज़रूरी हो जाता है।

आलिया भट्टको गुलाबी कार्सेट: आलिया भट्ट बिभिन्न स्टाइलमा देखिएकी, गुलाबी रंगको कोर्सेटमा हल्लाइन्

आलिया भट्टको गुलाबी कार्सेट: आलिया भट्ट बिभिन्न स्टाइलमा देखिएकी, गुलाबी रंगको कोर्सेटमा हल्लाइन्

पनि पढ्नुहोस्

5. पोर्स के लिए टोनर

जैसे ही आप 30 के हो जाएं, तो अपने बेसिक टोनर की जगह एंटी-एजिंग टोनर को इस्तेमाल करना शुरू कर देना चाहिए। यह बड़े पोर्स को टाइट करने में मदद करता है, त्वचा का संतुलन और टॉक्सिन्स को निकाल पीएच लेवल के संतुलन को बनाए रखता है। 

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ