हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए इन जरूरी विटामिन्स को करें अपनी डाइट में शामिल


हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए इन जरूरी विटामिन्स को करें अपनी डाइट में शामिल

कितने भी महंगे ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल क्यों न कर लें अगर आप अपनी डाइट में जरूरी विटामिन्स और प्रोटीन्स नहीं लेती तो उसकी चमक को बहुत ज्यादा दिनों तक मेनटेन रख पाना मुमकिन न

चेहरे की खूबसूरती और चमक को बरकरार रखने के लिए ब्यूटी प्रोडक्ट्स लगाना ही काफी नहीं होता। लंबे समय तक इसे मेनटेन रखने के लिए हेल्दी डाइट लेना भी उतना ही जरूरी होता है। इसमें मौजूद न्यूट्रिशन्स स्किन को अंदर से नौरिश करने का काम करते हैं। तो आइए जानते हैं, उन विटमिंस और माइक्रो न्यूट्रीएंट्स के ’bout में, जो हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए जरूरी होते हैं।  

ज़रूर अपनाएं विटमिन ए

अपने स्किन को रिंकल्स, एक्ने और टैनिंग से बचाने के लिए आप जितनी भी तरह के क्रीम या लोशन का इस्तेमाल करती हैं, उन सब में विटमिन ए मौज़ूद होता है। इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो स्किन के लिए सुरक्षा कवच का काम करते हैं। इसमें मौज़ूद रेटिनॉयड नामक तत्व नई स्किन सेल्स बनाने और रंगत निखारने का काम करता है।     

प्रमुख स्रोत: हरी पत्तेदार सब्जि़यों के अलावा पीले, नारंगी और लाल रंग के फलों में एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं। अगर सभी तरह की सब्जि़यों के साथ पपीता, आम, सेब, अनार, गाजर और चुकंदर जैसे फलों का सेवन किया जाए तो शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटमिन ए मिल जाता है। 

    

कोलेजन बनाए विटमिन सी

बबिता फोगाट कस्टमाइज गरिएको मेहँदी: बबिता फोगाटसँग उनको विवाहमा मेहँदी लग्यो, तपाईले पनि यस्तै अनुकूलित गर्न सक्नुहुन्छ

बबिता फोगाट कस्टमाइज गरिएको मेहँदी: बबिता फोगाटसँग उनको विवाहमा मेहँदी लग्यो, तपाईले पनि यस्तै अनुकूलित गर्न सक्नुहुन्छ

पनि पढ्नुहोस्

एंटी-ऑक्सीडेंट तत्वों से भरपूर विटमिन सी न केवल व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है बल्कि स्किन की बाहरी लेयर एपीडर्मिस और भीतरी लेयर डर्मिस के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसमें भी कैंसर रोधी तत्व पाए जाते हैं। विटमिन सी कोलेजन नामक तत्व का भी निर्माण करता है, जो स्किन को हेल्दी बनाए रखने में मददगार होता है। इसी वजह से ज्यादातर एंटी-एजिंग ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इसका इस्तेमाल होता है।

प्रमुख स्त्रोत: आमतौर पर सभी खट्टे फलों में विटमिन सी पाया जाता है। स्किन को सूर्य की हानिकारक किरणों यूवीए से बचाने के लिए संतरा, स्ट्रॉबेरी, नींबू, मौसमी, अंगूर और अनन्नास जैसे खट्टे फलों का सेवन करना फायदेमंद साबित होता है। यह चोट, खरोंच या कटने पर त्वचा की हीलिंग में भी मददगार होता है। रोज़मर्रा की डाइट से ही शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटमिन सी मिल जाता है। इसलिए डॉक्टर की सलाह लिए बिना इसका सप्लीमेंट न लें। 

चित्रहरूमा अनुष्का शर्माको ग्लैमर लुक: अनुष्का शर्माको नयाँ ग्लैम लुकले तपाईंको मन जित्न सक्नेछ!

चित्रहरूमा अनुष्का शर्माको ग्लैमर लुक: अनुष्का शर्माको नयाँ ग्लैम लुकले तपाईंको मन जित्न सक्नेछ!

पनि पढ्नुहोस्

       

विटमिन डी की डोज़

आलिया भट्टको गुलाबी कार्सेट: आलिया भट्ट बिभिन्न स्टाइलमा देखिएकी, गुलाबी रंगको कार्सेटमा रक गरी

आलिया भट्टको गुलाबी कार्सेट: आलिया भट्ट बिभिन्न स्टाइलमा देखिएकी, गुलाबी रंगको कार्सेटमा रक गरी

पनि पढ्नुहोस्

आमतौर पर लोग इसे हड्डियों की सेहत से जोड़कर देखते हैं पर इसके साथ ही विटमिन डी स्किन के लिए बहुत ज़रूरी है। यह त्वचा की कोशिकाओं के विकास और उनकी मरम्मत का काम करता है। स्किन की ड्राईनेस दूर करने के साथ झुर्रियों और एक्ने से बचाव में भी मददगार होता है।

प्रमुख स्रोत: यह सूरज की रोशनी के अलावा मिल्क प्रोडक्ट्स, फिश और ड्राई फ्रूट्स में भी पाया जाता है। अत: हेल्दी स्किन और मज़बूत हड्डियों के लिए दूध, दही, पनीर, अखरोट, बादाम और फिश को अपनी डाइट में प्रमुखता से शामिल करें। 

चेहरे पर जमी गंदगी और डेड सेल्स की समस्या होगी दूर, जब करेंगे उसे सही तरीके से वॉश

चेहरे पर जमी गंदगी और डेड सेल्स की समस्या होगी दूर, जब करेंगे उसे सही तरीके से वॉश

यह भी पढ़ें

त्वचा का रखवाला विटमिन ई

वर्ष एन्डर २०१:: लेहेंगाका यी nds प्रचलनहरूले हरेक दुलहीको दृश्यलाई विशेष बनाउँदछ

वर्ष एन्डर २०१:: लेहेंगाका यी nds प्रचलनहरूले हरेक दुलहीको दृश्यलाई विशेष बनाउँदछ

पनि पढ्नुहोस्

इसे त्वचा के लिए सबसे अधिक फायदेमंद माना जाता है। इसमें कुछ ऐसे तैलीय तत्व पाए जाते हैं, जो स्किन को रूखेपन से बचाकर उसे स्वाभाविक चमक प्रदान करते हैं। वसा मे घुलनशील विटमिन ई में कुछ ऐसे एंटी- ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं, जो स्किन को हर तरह के इन्फेक्शन से बचाते हैं। इसमें मौज़ूद एंटी-एजिंग तत्व रिंकल्स से बचाव में भी मददगार होते हैं। इसीलिए हर स्किन केयर प्रोडक्ट में इसे ज़रूर शामिल किया जाता है। 

प्रमुख स्रोत: बादाम, अखरोट, मूंगफली, सनफ्लॉवर सीड्स, मकई, सोयाबीन, पालक और ब्रोक्ली में भरपूर मात्रा में विटमिन ई पाया जाता है। अगर इन चीज़ों को डाइट में शामिल किया जाए तो पर्याप्त पोषण मिल जाता है। इसके अधिक सेवन से खून पतला हो जाता है, जो सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बिना इसका सप्लीमेंट नहीं लेना चाहिए।

शाहीद कपूर कुरूप जुत्ता: शाहिद कपूर देखिए कुरूप बुबा, जुत्तामा आश्चर्य चकित!

शाहीद कपूर कुरूप जुत्ता: शाहिद कपूर देखिए कुरूप बुबा, जुत्तामा आश्चर्य चकित!

पनि पढ्नुहोस्

इन्हें भी अपनाएं

मेकअप जो त्वचा के पीएच के अनुसार बदलता है रंग, जानें इन नए और अनोखे ट्रेंड के बारे में

मेकअप जो त्वचा के पीएच के अनुसार बदलता है रंग, जानें इन नए और अनोखे ट्रेंड के ’bout में

यह भी पढ़ें

ओमेगा-3 फैटी एसिड भी स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसलिए अगर आप नॉन-वेजटेरियन हैं तो अपनी डाइट में फिश, बादाम, पालक और हरी मेथी को प्रमुखता से शामिल करें।

सेलेनियम भी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। तरबूज, सीताफल और खरबूजे के बीज में यह तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

असली खूबसूरती के लिए स्किन का हेल्दी होना बहुत ज़रूरी है। यह तभी संभव है, जब आप हेल्दी डाइट अपनाएंगी। हर तरह की सब्जि़यों और फलों के अलावा बीजों और अनाजों में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो स्किन को हेल्दी बनाने में मददगार होते हैं।

 

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ