ध्यान दें! डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों को दूर रखने के ये हैं खास उपाय


ध्यान दें! डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों को दूर रखने के ये हैं खास उपाय

डेंगू लामखुट्टेबाट कसरी जोगाउने एडीज लामखुट्टेहरूले घरमा विशेष सावधानी अपनाउनु पर्छ किनकि ती लामखुट्टे टोकेपछि डेंगू हुन्छ।

नई दिल्ली, जेएनएन। डेंगू एडीज मच्छरों के काटने से होता है। एडीज मच्छर आम मच्छरों से अलग होते हैं और ऐसे में इनकी रोकथाम के लिए अलग तरह के कदम उठाने पड़ते हैं। इस मच्छर के शरीर पर चीते जैसी धारियां बनी होती है। यह मच्छर अक्सर रोशनी में ही काटते हैं यानी सुबह इससे बचना ज्यादा जरूरी है। एम्स ने इन मच्छरों के लिए एक गाइडलाइंस जारी कर रखी है, जिसके अनुसार जानते हैं कि आखिर इन मच्छरों से कैसे बचा जा सकता है।

– मच्छर केवल पानी में ही पैदा होते हैं जैसे कि नालियां, गड्ढे, रूम कूलर्स, टूटी बोतलें, पुराने टायर्स जैसी चीजों में जहां पानी ठहरता हो। इसलिए अपने घर में और उसके आस-पास पानी एकत्रित न होने दें। गड्ढों को मिट्टी से भर दें। रूकी हुई नालियों को साफ कर दें। रूम कूलर और गमलों में भरा पानी नियमित रुप से बदलते रहें।

– वहीं पानी की टंकियों और बर्तन को सही तरीके से ढक कर रखें ताकि मच्छर उसमें प्रवेश ना कर सके और प्रजनन न कर पाएं। वहीं अगर रूम कूलर और पानी की टंकियों को पूरी तरह खाली करना संभव नहीं है तो यह सलाह दी जाती है कि उनमे सप्ताह में एक बार पेट्रोल या मिट्टी का तेल डाल दें। बता दें कि प्रति 100 लीटर पानी के लिए 30 मिली लीटर पेट्रोल या मिट्टी का तेल पर्याप्त है। ऐसे करने से मच्छर का पनपना रूक जायेगा।

– पानी के स्रोतों में आप कुछ छोटी किस्म की मछलियां जैसे गैम्बुसिया, लेबिस्टरद्ध भी डाल सकते हैं। ये मछलियां पानी मे पनप रहे मच्छरों व उनके अंडों को खा जाती हैं। इन मछलियों को स्थानीय प्रशासनिक कार्यालयों जैसे बीडीओ कार्यालय से लिया किया जा सकता है।

– यदि संभव हो तो खिड़कियों और दरवाजों पर महीन जाली लगवाकर मच्छरों को घर मे आने से रोकें। मच्छरों को भगाने व मारने के लिए मच्छर नाशक क्रीम, स्प्रे, मैट्स आदि प्रयोग करें। गूगल के धुएं से मच्छर भगाना एक अच्छा देसी उपाय है। रात में मच्छरदानी के प्रयोग से भी मच्छरों के काटने से बचा जा सकता है।

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

– सिनेट्रोला तेल भी मच्छरों को भगाने मे कापफी प्रभावी है। वहीं ऐसे कपड़े पहनना चाहिए ताकि शरीर का अधिक से अधिक भाग ढका रहना चाहिए। यह सावधानी बच्चों के लिए ज्यादा आवश्यक है। बच्चों को मलेरिया सीजन जुलाई से अक्टूबर तक निक्कर या टीशर्ट ना ही पहनाएं तो अच्छा है।

– मच्छर-नाशक दवाई छिड़कने वाले कर्मचारी जब भी यह कार्य करने आएं तो उन्हें मना मत कीजिए। घर में दवाई छिड़कवाना आप ही के हित में है। घर के अन्दर सभी क्षेत्रों में सप्ताह मे एक बार मच्छर-नाशक दवाई का छिडकाव अवश्य करें। यह दवाई छिड़कते समय अपने मुंह और नाक पर कोई कपड़ा जरूर बांध लें और खाने पीने की सभी वस्तुओं को ढक कर रखें।

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ, भने यस तरिकाले सेलेरी प्रयोग गर्नुहोस्

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ, भने यस तरिकाले सेलेरी प्रयोग गर्नुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

– यह भी याद रखने योग्य बात है कि एडीज मच्छर दिन में भी काट सकते हैं। इसलिए इनके काटने से बचाव के लिए दिन में भी आवश्यक सावधनियां बरतें। यदि किसी कारणवश दरवाजों व खिडकियों पर जाली लगवाना संभव नहीं है तो प्रतिदिन पूरे घर मे पायरीथ्रम घोल का छिडकाव करें। 

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ