क्या है तनाव और कैसे इसकी पहचान कर पा सकते हैं निजात, जानेंगे यहां


क्या है तनाव और कैसे इसकी पहचान कर पा सकते हैं निजात, जानेंगे यहां

आजकल वर्कप्लेस पर जिस तरह का कॉम्पिटिशन है उसमें स्ट्रेस सामान्य सी बात है। आखिर तनाव क्या है इसे हम कैसे पहचान सकते हैं और किन तरीकों से इससे निजात पाई जा सकती है। जानेंगे इसे..

लगभग हर आदमी किसी न किसी तरह के तनाव का शिकार है। हालांकि किसी भी तरह का तनाव हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है और इससे प्रोडक्टिविटी भी प्रभावित होती है।हमारे जीवन में जब भी कोई बदलाव होता है, तो हमारा शरीर उसे लेकर जो प्रतिक्रिया करता है, उसे ही हम तनाव कहते हैं।

चूंकि हमारे जीवन में लगातार बदलाव होते रहते हैं, जैसे-टार्गेट को पूरा करने का प्रेशर, नौकरी जाने का डर, किसी काम को डेडलाइन पर पूरा न कर पाने का तनाव या उसे सही से न कर पाना आदि। ऐसे में तनाव से बचना मुश्किल है। हमारा उद्देश्य सभी तरह के तनाव को खत्म करना नहीं होना चाहिए, क्योंकि यह संभव नहीं है। हां, हमें अनावश्यक तनाव को दूर करने के साथ ही इसे बेहतर तरीके से मैनेज करने के प्रयास करने चाहिए। ऐसे में हम कह सकते हैं कि किसी भी वास्तविक अथवा काल्पनिक डर, घटना अथवा बदलाव की वजह से हमारा दिमाग और शरीर जो प्रतिक्रिया करता है, वह तनाव कहलाता है। यह प्रतिक्रिया अंदरूनी जैसे-(विचार, सोच, नजरिया) और बाहरी (नुकसान, दुर्घटना अथवा बदलाव) दोनों तरह की हो सकती है।

तनाव के कारण: तनाव का कोई एक निश्चित कारण नहीं होता है, बल्कि इसके पीछे तमाम कारण होते हैं, जिन्हें ‘स्ट्रेसर्स’ के नाम से जाना जाता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम किसी भी घटना को लेकर किस तरह की प्रतिक्रिया करते हैं और यह आपकी सोच, आपकी पर्सनैलिटी और मौजूदा संसाधनों पर निर्भर करती है। किसी व्यक्ति के लिए कोई स्थिति तनावपूर्ण हो सकती है, तो वही स्थिति दूसरे व्यक्ति के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकती है। कुछ उदाहरणों से जानते हैं कि हम कई बार खुद को कैसी स्थिति में पाते हैं

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

– जब हमसे ज्यादा अपेक्षाएं होती हैं।

– जब चीजों पर हमारा नियंत्रण कम होता है और हमारे पास विकल्प सीमित होते हैं।

– जब हम अलग-थलग महसूस करते हैं।

– जब सामने वाला व्यक्ति हमारा कड़ा मूल्यांकन करता है।

– जब हमें बड़ी अथवा अप्रत्याशित असफलता मिलती है, तो हम तनाव में आ जाते हैं।

इसके अलावा, कई लोग अपनी नौकरी, रिश्तों, वित्तीय स्थिति, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आदि को लेकर तनाव में रहते हैं। इन तनावों का सामना करने का कौशल सीखकर हम अपने तनाव को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

तनाव से निपटने के तरीके: विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल कर तनाव पर काफी हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है। तनाव दूर करने का सबसे अच्छा तरीका वह है, जो आपको शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के तनाव से निजात दिलाए और इस तरह की स्थिति से निपटने में आपके कौशल को और बढ़ाने में मदद करे।

सांस लेने का तरीका: सही तरीके से सांस लेने से तनाव दूर करने अथवा खत्म करने में मदद मिलती है। इसके लिए समय निकालना होता है, अच्छे से अभ्यास करना होता है और इस तरीके को रोजाना इस्तेमाल करना होता है। आमतौर पर लोग यह नहीं सीखते हैं कि इस तरह सांस लेने का सही तरीका क्या है और न ही वे इसे नियमित रूप से करते हैं। इसके लिए सबसे पहले सांस लें, फिर थोड़ी देर रुककर एक गिनें और धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए दो गिनें। इसके बाद धीरे-धीरे सांस लें और तीन तक गिनें और फिर कुछ देर रुकने के बाद चार तक गिनते हुए धीरे-धीरे सांस छोड़ें। आंख बंद कर इस तरह लगातार सांस लेते रहें। अब आप अपने शरीर पर ध्यान दें कि आपका दिल कैसे धड़क रहा है, आपको हवा कैसी लग रही है और कैसे आपका पेट महसूस कर रहा है।

विश्व अक्षमता दिवस २०१:: हेरचाहका यी तरिकाहरू अपनाएर बच्चाहरूको लागि मार्ग सजिलो बनाउनुहोस्

विश्व अक्षमता दिवस २०१:: हेरचाहका यी तरिकाहरू अपनाएर बच्चाहरूको लागि मार्ग सजिलो बनाउनुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

वर्तमान में रहें: भविष्य को लेकर तमाम तरह की चिंताएं और पुराने समय को लेकर पछतावा करने से तमाम तरह के तनाव हो जाते हैं और आप वर्तमान पल का आनंद नहीं उठा पाते हैं। ऐसे में सिर्फ वर्तमान पर फोकस करें।

प्लानिंग करें, चिंता नहीं: अगर आप किसी चीज की अच्छी प्लानिंग करते हैं, तो फिर उसमें लगातार समीक्षा की जरूरत नहीं रहती है। एक चिंतित व्यक्ति अपनी प्लानिंग की समीक्षा में ही लगातार लगा रहता है। ऐसे में बेहतर प्लानिंग कर तनाव से निजात पाई जा सकती है। समस्या को दूर करने के जितने भी विकल्प दिखें, उनकी एक लिस्ट बनाएं और उनमें से किसी विकल्प का चुनाव करें। अपनी योजना को कहीं पर लिख लें। डॉ.

राजीव गुप्ता (मैनेजमेंट कंसल्टेंट)

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ