अक्सर बीमार पड़ने के पीछे कमजोर इम्यूनिटी हो सकती है वजह, इन चीज़ों को खाकर रहें हेल्दी


अक्सर बीमार पड़ने के पीछे कमजोर इम्यूनिटी हो सकती है वजह, इन चीज़ों को खाकर रहें हेल्दी

अक्सर बीमार पड़ते हैं तो इसमें दोष मौसम का नहीं बल्कि आपके खानपान का है। डाइट में सेब पालक जैसी चीज़ें आपके इम्यून सिस्टम को अच्छा बनाती हैं और आप रहते हैं बीमारियों से दूर।

अक्सर आपने देखा होगा कि बहुत से लोग जल्दी-जल्दी बीमार पड़ते रहते हैं। यही नहीं कई बार वे स्वस्थ होने की दशा में भी वे बीमार से ही नजर आते हैं। अगर आप या आपके घर-परिवार में इसी तरह का कोई सदस्य है तो जाहिर है कि उसका इम्यून सिस्टम कमजोर है। इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए आपको अपने खानपान पर थोड़ा सा ध्यान देना होगा और कुछ चीजों को अपने आहार में शामिल करना होगा।

सेब

यह मशहूर कहावत तो आपने भी सुनी ही होगी कि रोजाना एक सेब का सेवन करने से डॉक्टर से दूर रहा जा सकता है यानी रोगों को दूर रखा जा सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि यह बात सौ फीसदी सच है। कारण, सेब में ढेर सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। सेब में विटामिन ए, बी-1, बी-2, बी-6, सी, ई, के आदि पाए जाते हैं। इसमें मैंग्नीज, कॉपर, पॉलीफेनॉल्स, आदि पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। 

बादाम

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

यह विटामिन ई, मैंग्नीज, मैग्नीशियम आदि का बढि़या स्रोत है। इसमें फाइबर भी काफी मात्रा में पाया जाता है। इसके सेवन से शरीर का रोग-प्रतिरोधक तंत्र काफी मजबूत रहता है। इसके सेवन से मानसूनी समस्याओं से भी राहत मिलती है।

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

वजन घटाउनको लागि अजवाइन: यदि तपाईं तौल घटाउन चाहानुहुन्छ भने यस प्रकारले अजवाइन प्रयोग गर्नुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

बादाम ऑनलाइन आर्डर करने के लिए यहां क्लिक करें

विश्व अक्षमता दिवस २०१:: हेरचाहका यी तरिकाहरू अपनाएर बच्चाहरूको लागि मार्ग सजिलो बनाउनुहोस्

विश्व अक्षमता दिवस २०१:: हेरचाहका यी तरिकाहरू अपनाएर बच्चाहरूको लागि मार्ग सजिलो बनाउनुहोस्

पनि पढ्नुहोस्

निन्द्राको अभावले हृदयघात हुन सक्छ: निद्रा असफलताले हृदयघातको जोखिम बढाउन सक्छ!

निन्द्राको अभावले हृदयघात हुन सक्छ: निद्रा असफलताले हृदयघातको जोखिम बढाउन सक्छ!

पनि पढ्नुहोस्

शकरकंद

राष्ट्रिय प्रदूषण नियन्त्रण दिन २०१ 2019: घरको सुन्दरता बढाउनका साथै यसले प्रदूषणबाट पनि टाढा रहनेछ, यी इनडोर प्लान्टहरू

राष्ट्रिय प्रदूषण नियन्त्रण दिन २०१ 2019: घरको सुन्दरता बढाउनका साथै यसले प्रदूषणबाट पनि टाढा रहनेछ, यी इनडोर प्लान्टहरू

पनि पढ्नुहोस्

यह बीटाकैरोटिन से भरपूर होती है। बीटाकैरोटिन विटामिन ए का बढि़या स्रोत होता है। इसके सेवन से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। बीटाकैरोटिन हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इसके सेवन से त्वचा सूर्य की हानिकारक किरणों से भी सुरक्षित रहती है। यह हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने में सहायक होता है।

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

यह भी पढ़ें

खट्टे फल

विभिन्न प्रकार के खट्टे फलों में विटामिन सी काफी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। गौरतलब है कि विटामिन सी शरीर में मौजूद सफेद रक्त कणिकाओं में वृद्धि करता है। ये रक्त कणिकाएं शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में बहुत मदद करती हैं। आहार विशेषज्ञों का कहना है कि विटामिन सी को हमारा शरीर अंदर एकत्रित करके नहीं रख सकता है। इसलिए विटामिन सी का सेवन रोज करना जरूरी है। विटामिन सी का सेवन किसी भी रूप में किया जा सकता है। यह नींबू, संतरा और अन्य ढेर सारे खट्टे फलों में पाया जाता है।

ग्रीन टी

हाल ही में हुए एक शोध से पता चला है कि गर्म पेय पीने की तुलना में चाय पीने वालों के खून में दस गुना ज्यादा एंटी वायरस तत्व होते हैं। काली और हर्बल चाय में अमीनो एसिड व एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पर्याप्त मात्रा में होता है, जो इम्यून को बूस्ट करता है। 

ग्रीन टी के मिल रहे हैं शानदार ऑप्शन, खरीदने के लिए क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

जवाफ लेख्नुहोस्

तपाईंको ईमेल ठेगाना प्रकाशित हुने छैन । आवश्यक ठाउँमा * चिन्ह लगाइएको छ